क्यू

अपने अक्सर दूर क्यू हो जाते है
दुनिया की भीड़ मैं हम क्यू खो जाते है
अजनबी से शहर मैं हमे भेज देते
क्या हम अपनो से इतने पराए हो जाते हैं

 क्यू