Tags

मुझे बनाने का शौक था और भैया को गिराने का..
.
.

आज बीस साल बाद मैं जलेबी बना रहा हूँ और
भैया इन जलेबियों को चासनी में गिरा रहे हैं!!

………..मोहन हलवाई