सफर का मजा लेना हो तो साथ में सामान कम रखिए

और

जिंदगी का मजा लेना हैं तो दिल में अरमान कम रखिए !!
तज़ुर्बा है मेरा…. मिट्टी की पकड़ मजबुत होती है,
संगमरमर पर तो हमने …..पाँव फिसलते देखे हैं…!
गाँव में छोड़ आये जो हज़ार गज़ की बुजुर्गों कि हवेली

वो शहर में सौ गज़ में रहने को खुद की तरक्की कहते हैं!

Advertisements