प्रिय मानसून ,

तुम जहाँ कही भी हो वापिस आ

जाओ। ।

कोई तुम्हें कुछ नहीं कहेगा

सोयाबीन ,धान  , की तबियत बहुत

ख़राब है / सब तुम्हारे बिना परेशान है।

छतरी वाले काका और रेनकोट वाले

ताऊ तुम्हे बहुत याद कर रहे हैं ……

जो कोई मानसून को यहाँ लेकर

आएगा उसे उचित इनाम

दिया जायेगा एवं नाम गुप्त

रखा जायेगा। ।

Maansoon .. maan ja soon 😣:)

Advertisements