कौवे ने मटके से पूछा “तुम आग में

तपा के बनाये जाते हो, फिर भी

इतनी गर्मी में अपने अंदर पानी को 

कैसे ठंडा रख पाते हो?”

 

मटके ने बहुत सुन्दर उत्तर दिया

   

वाष्पोत्सोर्जन , उष्माशोषी प्रक्रम है !

इसके लिये ङेल्टा H पोजिटिव होता है !

मेरी सतह पर सूक्ष्म छिद्र होते हैं जिन पर कूलिंग इफैक्ट जैनरेट होता है !

…..

….

…..

…..

      ये सुनने के बाद कउआ

अपने काम से काम रखने लग गया
फालतू सवाल बंद !

Advertisements